नायिका-18 : मैं मानता नहीं अगले या पिछले जन्म को, ‘जानता’ हूँ!

विनायक – तीनों links पर गया, दो पर comments हैं, इच्छा हो तो देखें, एक अमृत-सागर को पढ़ लिया सागर मंथन कर अमृत की खोज करने के लिये. न, अमर होने की चाह बिलकुल भी नहीं, जल की कोख से तो लिखवा लिया. अब देखते हैं, “धरती की कोख से” … Continue reading नायिका-18 : मैं मानता नहीं अगले या पिछले जन्म को, ‘जानता’ हूँ!