Menu

Tag: Science

ओमुआमुआ : वह अतीत का अग्रदूत!

अंतरिक्ष मेरे लिए हमेशा से बहुत रहस्मयी रहा है, बचपन से ही रात के आसमान को तकने की आदत रही है…. बहुत सारे ऐसे अद्भुत दृश्य बिना टेलिस्कोप के देखे हैं, लगता था जैसे कोई सिनेमा के परदे पर उभरता दृश्य देख रही हूँ… कभी लिखा था यह – अवकाश का आकाश “पहला नियम …. […]

Read More

नेप्ट्यून से परे एक ‘महापृथ्वी’ : जो नवाँ होगा और नवा भी

पुराने बच्चों को स्कूल में नौ ग्रह पढ़ाये गये; आज-कल के बच्चे आठ पढ़ते हैं. जो थोड़े अधिक कुतूहली हैं, वे इस आठ की संख्या के बाद एक प्रश्नचिह्न लगा छोड़ देते हैं. नेप्ट्यून से सुदूर शायद कोई और है, जिस पर से कभी पर्दा उठेगा और सत्य प्रकट होगा. वह जो नवाँ होगा और […]

Read More

धर्म और विज्ञान : दो नावों की सवारी

हम सभी ने देखा है कि प्रकाश की कोई किरण किसी प्रिज़्म में से गुज़रने पर सात रंगों में विभाजित हो जाती है. कल्पना की जाए कि वह प्रकाश प्रिज्म में उलझ कर अपनी असली पहचान भूल गया और स्वयं को कांच का प्रिज्म ही समझने लगा और बाहर दिखने लगी उसे एक सतरंगी दुनिया, […]

Read More
error: Content is protected !!