सुई-धागा : ज़िंदगी की उधड़न पर तुरपई करती फिल्म

अनुष्का शर्मा और वरुण धवन अभिनीत फिल्म “सुई -धागा” देखी, वाकई बेहतरीन फ़िल्म है। रेडीमेड और ब्रांडेड कपड़ों के इस…

Continue Reading →

बंदिनी : मन की किताब से तुम मेरा नाम ही मिटा देना…

चारुचंद्र चक्रवर्ती की बांग्ला कहानी ‘तामसी’, पर आधारित बिमल रॉय की 1963 निर्मित फ़िल्म “बन्दिनी” हर बार मन में एक…

Continue Reading →

सदमा : अंग्रेज़ी वर्णमाला का नौवां वर्ण ‘I’ यानी ‘मैं’ का खो जाना

प्रेम का नफरत में बदल जाना, प्रेम में धोखा खाना, यहाँ तक कि प्रेम का मर जाना भी बर्दाश्त हो…

Continue Reading →