Menu

Tag: Motivation

VIDEO : पिक्चर अभी बाकी है दोस्त

तो पिछले वीडियो में मैंने वादा किया था कि जीवन के एक स्वर्णिम नियम के बारे में बताऊंगी जो मैंने जीवन के व्यक्तिगत अनुभवों से जाना है… बाकी आपने बड़े बड़े ग्रंथों में पढ़ा होगा कि जीवन एक माया है… और मैं आप सबकी सुविधा के लिए इसे एक फिल्म कह देती हूँ. तो जीवन […]

Read More

VIDEO : मुझको भी तो लिफ्ट करा दे

आपने अदनान सामी का अमिताभ बच्चन पर फिल्माया यह गाना ज़रूर सुना होगा… ऐसो वैसो को दिया है, कैसो कैसो को दिया है… मुझको भी तो लिफ्ट करा दे… मैं अक्सर सोचती हूँ क्या कोई गाना जब लिखा जाता है तो वास्तव में उसका वही अर्थ होता है जिस उद्देश से लिखा गया है? यूं […]

Read More

जीवन की रेसिपी : आणंद ना गोटा

यह एक गुजराती रेसिपी है, और चूंकि गुजरात में हर खाने की चीज़ में शक्कर या मीठे का उपयोग होता ही है इसलिए शायद उनकी बोली भी इतनी ही मीठी लगती है. तो गुजरात में रहने वालों के लिए गोटा कोई नई चीज़ नहीं, लेकिन जो गुजरात के बाहर रहते हैं, और उन्होंने गुजरात तरफ […]

Read More

जीवन है मेरा चुनाव, आपका चुनाव चिह्न क्या है?

कभी कभी उन सारे क्रिया कलापों से छुट्टी लेकर देखिये जिनमें लगातार आपकी उपस्थिति दर्ज होती है. जैसे मैं कभी कभी सोशल मीडिया या मेकिंग इंडिया साप्ताहिकी के लेखों से गायब रहने का प्रयास करती हूँ, क्योंकि मुझे कभी कभी लगता है मुझे लगातार झेलना ज़रा मुश्किल है, इसलिए एक ब्रेक ज़रूरी होता है. मैं […]

Read More

तदबीर से बिगड़ी हुई तकदीर बना ले, अपने पे भरोसा है तो एक दांव लगा ले

हौसलों के पंख होते हैं, पैर नहीं। वो जब ठन जाता है, तो कोई आसमान उसकी पकड़ से बच नहीं सकता। एक ऐसे ही हौसले को मैंने आसमान की बुलंदी को छूते हुए देखा है। एक पैर की मोरनी को मैंने सावन में झूमते हुए देखा है। कोई फर्क नहीं पड़ता वह दिसंबर 1986 में […]

Read More

दिखाऊपन से उबाऊपन की ओर बढ़ता आज का युवा

हम दिखाऊपन में बुरी तरह कैद हो चुके हैं, प्रिया प्रकाश की आंख पर शहीद हो जाने वाले करोड़ों युवा इस बात का साक्षात्कार देते हैं, कि दुनिया भर में अगर ठरक के अग्रणी उत्पादक कहीं हैं तो हम ही हैं। देश में मिस वर्ल्ड का खिताब लाने वाली लड़की से ज्यादा आंख मारने वाली […]

Read More

कुछ तो लोग कहेंगे

आजकल की सबसे बड़ी बीमारी है – लोग क्या कहेंगे? यह वाक्य हमारे ज़हन में इस तरह रच बस गया है कि इसे निकालना नितांत हीं मुश्किल है। आपने वह मशहूर कहानी ज़रूर सुनी होगी जिसमें बाप बेटे एक गधे के साथ सफर कर रहे होते हैं। लोगों के कहने पर कभी बाप गधे पर […]

Read More

ये जो रुख़सार पे तिल सजा रखा है, दौलत-ए-हुस्न पे कातिल बैठा रखा है

मित्रों, सुई की नोक जितना छोटा तिल भी रुख़सार में कशिश डाल देता है। यह बात बताती है कि हमारा किरदार सूक्ष्म विशेषताओं से भी किस कदर निखर सकता है। आपका कोई एक छोटा सा गुण भी आपके व्यक्तित्व में सुगंध उत्पन्न कर सकता है। ईश्वर की कृपा दिला सकता है। श्वेताम्बर जैन तेरापंथी आचार्य […]

Read More

‘पंछी’ से सीखिए आसमान में उड़ने का हुनर और शऊर

दूरदर्शन पर एक सीरियल आया करता था “दादी माँ जागी” … बीस तीस साल तक मूर्छा में रही दादी माँ एक दिन अचानक जाग जाती है… बाहर की दुनिया पूरी तरह से बदल चुकी होती है लेकिन उनके लिए दुनिया वही बीस तीस साल पुरानी ही है… नए समय के साथ सामंजस्य बिठाने में दादी […]

Read More

127 Hours : जीवन को जीत लाने के लिए ज़रूरी है अब इस हाथ का धड़ से अलग होना

127 Hours… एक अंग्रेज़ी फिल्म है कुछ तीन चार साल पहले देखी थी. यूं तो अंग्रेज़ी फ़िल्में मैंने बहुत कम देखी हैं, लेकिन जितनी भी देखी हैं वो या तो जीवन और मृत्यु के बीच जीवन को बचा लाने की जिजीविषा पर आधारित रही या फिर मुझे वो इसलिए पसंद आई क्योंकि अंग्रेज़ी फ़िल्में अधिकतर […]

Read More
error: Content is protected !!