Menu

Tag: Motivation

‘पंछी’ से सीखिए आसमान में उड़ने का हुनर और शऊर

दूरदर्शन पर एक सीरियल आया करता था “दादी माँ जागी” … बीस तीस साल तक मूर्छा में रही दादी माँ एक दिन अचानक जाग जाती है… बाहर की दुनिया पूरी तरह से बदल चुकी होती है लेकिन उनके लिए दुनिया वही बीस तीस साल पुरानी ही है… नए समय के साथ सामंजस्य बिठाने में दादी […]

Read More

127 Hours : जीवन को जीत लाने के लिए ज़रूरी है अब इस हाथ का धड़ से अलग होना

127 Hours… एक अंग्रेज़ी फिल्म है कुछ तीन चार साल पहले देखी थी. यूं तो अंग्रेज़ी फ़िल्में मैंने बहुत कम देखी हैं, लेकिन जितनी भी देखी हैं वो या तो जीवन और मृत्यु के बीच जीवन को बचा लाने की जिजीविषा पर आधारित रही या फिर मुझे वो इसलिए पसंद आई क्योंकि अंग्रेज़ी फ़िल्में अधिकतर […]

Read More

माँ की रसोई से : गिलकी की झिलमिल रेसिपी

माँ मेरी अक्सर पीठ पर एक धोंक जमा देती, ‘नखीत्री’! ससुराल जाकर हमारा नाम ऐसे रोशन करेगी… चने की दाल और तुअर की दाल में फर्क नहीं पता!! तुरई और गिलकी कितनी तो अलग दिखती है… जिसमें कांटे वाले छिलके होते हैं वो तुरई होती… ऐसे माँ कितना भी मार ले, ससुराल के नाम पर […]

Read More

जिसका कोई नहीं है उसके ‘गणपति बप्पा’ हैं

गणेश चतुर्थी के त्यौहार को समग्र राष्ट्र हर्सोल्लास के साथ मना रहा है। सारे महाराष्ट्र में इस त्यौहार को मानने के लिये “गणेश मंडल” बने हुये हैं जो उत्सव से पहले धनराशि इक्कठी कर के अपने गली मोहल्ले में भव्य पंडाल लगाते हैं जिसमे गणेश चतुर्थी का भव्य आयोजन किया जाता है। पुणे में ऐसा […]

Read More

अजित उवाच : Depression की आग पर पानी डालिए, इससे पहले कि सबकुछ जला के भस्म कर दे

क्या आप भी हमेशा तनाव में रहते हैं? ये depression का प्रारम्भिक लक्षण है। तुरंत गूगल कीजिये। Depression के लक्षण पढ़िए। अगर 4-5 लक्षण भी मिलते हैं तो समझ लीजिये चिंगारी है, जो अन्दर अन्दर सुलग रही है। ये कभी भी दावानल बन सकती है। Depression को नज़रअंदाज करना जानलेवा हो सकता है। इस अन्दर […]

Read More

आरक्षण के बहाने : बबूल बोनेवाले आम की फसल नहीं उगने पर बंद करें मातम करना

मेरी पुत्री ने स्नातक परीक्षा पास करने के बाद स्नातकोत्तर कक्षा में प्रवेश लिया ही था कि उसके द्वारा दी गयी बैंक की क्लैरिकल और प्रोबेशनरी ऑफिसर की परीक्षा के परिणाम आ गए थे। उसका दोनों में चयन हो गया था। प्रोबेशनरी ऑफिसर पद के साक्षात्कार में मिले अंकों में कुछ कमी के कारण अन्तिम […]

Read More

‘Zombie Boy’ Rick Genest की आत्महत्या : बालकनी से नहीं, जीवन से कूद गया है युवा वर्ग

बीती 1 अगस्त को खबर पढ़ी कि Rick Genest जो Zombie Boy के नाम से प्रसिद्ध था, ने सिर्फ़ 32 वर्ष की उम्र में बालकनी से कूदकर आत्महत्या कर ली। Zombie Boy के बारे में बहुत अधिक नहीं जानती, बस इतना कि Lady Gaga के किसी म्यूज़िक एल्बम में काम किया था, एक मॉडल, संगीतकार […]

Read More

मैं अपनी ही प्रेमिका हूँ

शायद 1996 या 97 की बात होगी उन दिनों टीवी पर एक डेली सोप आता था “एक महल हो सपनों का” ये टीवी सीरियल पहले गुजराती में बना फिर उसकी लोकप्रियता को देखते हुए उसका हिन्दी रीमेक भी बना। गर्मी की छुट्टियां चल रही थी, मेरा ग्रेजुएशन हो चुका था, और मैंने अपने विद्रोही लक्षण […]

Read More

सीधे रस्ते की ये टेढ़ी सी चाल है…

जीवन विविधता से भरा हुआ है और आज मुझे आप सबसे ढेर सारी अलग-अलग बातें करनी है…. तो मैं अपने किशोरावस्था से शुरू करती हूँ, बचपन मेरा बहुत यादगार नहीं रहा होगा इसलिए मुझे याद नहीं… वैसे भी ध्यान बाबा कहते है जब आप 14 वर्ष और 23 दिन की हुई थीं तब आपके जीवन […]

Read More

जादू की झप्पी : लाख दुखों की एक दवा है काहे घबराए

उनके पास पैसा, शोहरत, कामयाबी यानी वह सब कुछ था, जो किसी की भी हसरत हो सकती है, फिर चाहे आध्यात्मिक गुरु भय्यू जी महाराज हों या सिलेब्रिटी शेफ एंथनी बॉर्डियन या फिर पुलिस अधिकारी राजेश साहनी। वे जिस मुकाम पर पहुंचे, वहां कम ही लोग पहुंच पाते हैं फिर भी उन्होंने जिंदगी से मुंह […]

Read More