Menu

Tag: Mano Ya Na Mano

मानो या ना मानो : यात्रा एक तांत्रिक मंदिर की

चौथे दिन मैं भैरव पहाड़ी पर पहुंचा तो कोहरा-सा छाया हुआ था, पर कुछ ही समय बाद कोहरा छंट गया और प्रखर धूप निकल आई. यह मेरे लिए शुभ संकेत था. भैरव पहाड़ी की चढ़ाई अत्यंत कठिन और श्रम-साध्य है. लगभग पांच घंटे की जी-तोड़ चढ़ाई के बाद ही मैं ऊपर पहुँच सका. सामने ही […]

Read More

मानो या न मानो : मृत्यु पश्चात भी लक्ष्मण बन करता रहा बड़े भाई की रक्षा

कहानी है ये उस लोक के चमत्कार की, कहने वाले उसको छठी इन्द्री हैं, कोई भ्रम पर जो जानते हैं, वो मानते हैं कि वो लोक है। मेरे जीवन में अनेक घटनाएं है उस दुनिया की। पर ये घटना घटी थी मेरे पिता के जीवन में। मेरे दादा आर्थिक स्थिति में निम्न वर्ग में आते […]

Read More

मानो या ना मानो : खजाने के रखवाले या मार्गदर्शक तीन बाबा

ये हैं सुशील जी उर्फ पिल्लू और उनके सुपुत्र रोहित. ये दोनों घरों में पुताई का काम करते हैं, जब मेरे बच्चों ने दीवारों पर जी भर कर चित्रकारी कर ली तब दादाजी ने इन दोनों को बुलाया और पूरे घर भर की पुताई करवाई. अब आप सोच रहे होंगे इन दोनों में ऐसी क्या […]

Read More

मानो या ना मानो : वामांगी-उत्सव पुनर्जन्म एक प्रेमकथा

वामांगी, जिसका ज़िक्र पहले आता है उसके बाद आती है वह.. पैरों की ऊंगलियों के नाखून बढ़ाकर रखती है, लेकिन उस पर महावर नहीं होता, बाकी उसके महावर से रंगे पाँव जहाँ जहाँ पड़ते हैं रास्ता गुलाबी हो जाता है। पैरों में पायल नहीं बस काला धागा डाले रहती है, जैसे नदी के दुधिया पानी […]

Read More

मानो या ना मानो -7 : महासमाधि की झलक

पिछले महीने ‘युगन युगन योगी’ यह पुस्तक एक मित्र के माध्यम से जादुई रूप से पहुँची थी… यूं तो मैं आजकल सद्गुरु को दिन रात यूट्यूब पर सुनती रहती हूँ, लेकिन पुस्तक पढ़ने का जादू क्या होता है वो मैंने ‘वर्जित बाग की गाथा’ और ‘हिमालायीवासी गुरु के साए में श्री एम’ पुस्तक से जाना […]

Read More

मानो या ना मानो – 2 : हनुमान दर्शन

(यह पिछले वर्ष मुझ पर हुए आध्यात्मिक प्रयोग पर लिखी सम्पूर्ण घटना जीवन पुनर्जन्म का एक अंश भर है) उन दिनों मैं पिछले जन्म में हुए किसी गुनाह के भय से जूझ रही थी जिससे मुक्त करने के लिए मुझ पर प्रयोग हो रहे थे। भय से मुक्ति के लिए एकमात्र साधना है हनुमान तत्व […]

Read More

मानो या ना मानो -1 : चन्दन-वर्षा

इश्क़ जब उम्र का चोला सिलता है तो उसमें मिलन की झालर में लगे तुरपाई के तंतु इतने संवेदनशील हो जाते हैं कि चेतना तक पैरहन के लिए लालायित हो जाती है। आप मानो या ना मानो लेकिन ये ऐसी ही इश्क़ की कहानी है कि मृत्यु के पश्चात भी वो आशिक़ से मिलने आती […]

Read More

मानो या ना मानो : क्या मार्गदर्शन करती हैं आत्माएं?

एक खुशहाल परिवार, न पैसे की दिक्कत, न आपसी कलह, न कोई और किल्लत… फिर ऐसा क्या हुआ कि दो भाइयों के पूरे परिवार ने एक साथ जान दे दी। दिल्ली के बुराड़ी इलाके में 11 लोगों की खुदकुशी की घटना ने देश भर को झकझोर कर रख दिया है। मामले में अभी परिवार के […]

Read More

मानो या न मानो : मिट्ठी के जन्म और गुड़वाले बाबा की सच्ची कहानी

माई, ओ माई !! गुड़ रोटी मिलेगी खाने को? आगे जा बाबा… आज कुछ नहीं है देने को. मैं बहुत परेशान हूँ. दे दे ना माई, बस दो रोटी और गुड़. ओ हो बाबा… एक तो मेरा दिमाग काम नहीं कर रहा और ऊपर से तुम… खैर बाबा तुम्हारा क्या दोष, लाती हूँ गुड़ रोटी. […]

Read More
error: Content is protected !!