प्रेम में सेक्स की भूमिका – 2 : Sex Taboo

शारीरिक अभिव्यक्ति व्यक्ति के व्यक्तित्व की परिचायक होती हैं। हम जैसे भाव रखते हैं, शरीर वैसी ही अभिव्यक्ति करता हैं।…

Continue Reading →

ना उम्र की सीमा हो, ना जन्मों का हो बंधन

रिश्तों के कोंपल उसी मिट्टी में अंकुरित होते हैं, जहाँ अनुकूल वातावरण मिलता है, फिर चाहे विवाह हो, प्रेम हो…

Continue Reading →

बुज़ुर्गों का ध्यान रखने में भारत सबसे अंतिम नंबर पर!

ग्लोबल रिटायरमेंट इंडेक्स में 34 देशों में किये गये एक सर्वे में हमारा देश सबसे आखिरी नम्बर पर यानि कि…

Continue Reading →

पैसा, प्रेम, परमात्मा : प्रचलित, प्रचलन, प्रचोदयात

जैसा कि मेरे साथ हमेशा होता है मेरा रचनात्मक संसार मेरे साथ कोई न कोई खेल खेल रहा होता है,…

Continue Reading →

मानो या ना मानो : वामांगी-उत्सव पुनर्जन्म एक प्रेमकथा

वामांगी, जिसका ज़िक्र पहले आता है उसके बाद आती है वह.. पैरों की ऊंगलियों के नाखून बढ़ाकर रखती है, लेकिन…

Continue Reading →

जा वे सजना… मैं नईं करना तेरा एतबार…

पहाड़ी प्रेमाकांक्षी इकतरफ़ा होते हैं। जिनमें प्रेमी सदा समुंदर के तटीय मैदानी परदेस से आते तो हैं और प्रेमिका के…

Continue Reading →

Life Love Liberation : ध्यान ही जीवन, जीवन ही प्रेम, प्रेम ही परमात्मा

मैं अपनी बात शुरू करूं इसके पहले जानिये बब्बा क्या कह रहे हैं, कोई आध्यात्मिक गुरु, कोई ज्ञानी बात कहता…

Continue Reading →