Menu

Tag: Love Letter

प्रेम पत्र : इश्क़ की दास्तान है प्यारे, अपनी-अपनी ज़बान है प्यारे

ये नहीं कि मैं बिना बात किए नहीं रह सकता. रह सकता हूँ. सिर्फ ये एहसास ही काफी होता है कि कोई है, जिससे मैं जब चाहे बात कर सकता हूँ. पिछले 53 घंटों से मैं चुप हूँ. आसपास लोग भी हैं जिनसे मैं कह रहा हूँ, वो सुन रहे हैं, वो कह रहे हैं, […]

Read More

प्रेम पत्र : तुम्हारी पीठ पर तिल है क्या?

तुम्हारी पीठ पर तिल है क्या? ठीक वैसे जैसे तुम्हारे होठों के नीचे और गले के थोड़ा ऊपर दो तिल हैँ, उस तरह का कुछ है क्या? अगर है, तो मैँ न उस तिल पर उँगलियाँ रखकर वहाँ से लिखना शुरू करना चाहता हूँ। मैँ उस तिल से शुरू करके तुम्हारे कटि तक लिख देना […]

Read More
error: Content is protected !!