Menu

Tag: Hercules

हरक्यूलिस

“निर्दयी, तुम मातृत्व का निर्वहन न कर पायीं पर मैं… मैं अपने पुत्र होने के दायित्वों को अवश्य पूर्ण करूँगा, निश्चिंत रहो!! कहते कहते उनकी आंखों से आंसू टपक ही पडे. उपस्थित सारे छात्र भी भाव-विव्हल हो गए. मैं समझ ही नहीं पा रहा था कुछ ना ही कोई और समझ पाया होगा. वे लगभग […]

Read More
error: Content is protected !!