Menu

Tag: Health

स्वस्थ जीवन, उन्नत चेतना : वज़न और बीमारियों पर नियंत्रण की महत्वपूर्ण जानकारी

यह वीडियो ख़ास उन लोगों के लिए हैं जो खुद या उनके कोई परिचित किसी लम्बी बीमारी से ग्रसित हैं. बाकी यह वीडियो सबके लिए ही उपयोगी है, उनके लिए भी जो जीने के लिए खाते हैं और उनके लिए भी जो यह कहते हैं एक ही तो ज़िंदगी मिली है खाओ पियो ऐश करो […]

Read More

Multitasking : कहीं की ईंट, कहीं का रोड़ा, भानुमती ने कुनबा जोड़ा

लोग मुझसे अक्सर पूछते हैं आप घर परिवार और मेकिंग इंडिया के साथ सोशल मीडिया भी… एक साथ सबकुछ कैसे संभाल लेती हैं. आपकी मल्टीटास्किंग गज़ब की है. कई करीबी मित्रों ने तो सीधे सीधे यही पूछा, दिन भर यहीं (सोशल मीडिया) पर ही जमी रहती हो, घर में झाडू, बर्तन, कपड़ा, खाना कौन करता […]

Read More

SPINAL CORD : स्वस्थ शरीर का केंद्र जिसे भुलाकर हमने बीमारियों को दिया न्योता

पिछले दिनों सद्गुरु का एक बहुत ही दिलचस्प वीडियो देखा. सबसे बड़ी बात जिसने मुझे अचंभित किया वह यह कि शुद्ध शरीर तल की बात करने वाले चिकित्सकों के बीच उन्हीं की शब्दावली में अध्यात्म की बात करना सिर्फ सद्गुरु के बस का ही है. जहाँ एक ओर किसी शरीर में दिल के बंद हो […]

Read More

जिसने गोधन पाया वही स्वास्थ्य से धनवान कहलाया

गाय हमें 3 चीज़ देती है दूध, गौ मूत्र, गोबर। दूध दूध मानव का एक सम्पूर्ण आहार है मानव शरीर में जो भी पोषक तत्व चाहिए होता है वो सब दूध में होता है। दूध को प्रोसेस करके दही बनाया जाता है, दही को प्रोसेस करके मंथन क्रिया करके माखन-छाछ बनाया जाता है। माखन एक […]

Read More

उत्पादक श्रम अर्थकारी और अनुत्पादक श्रम अनर्थकारी

उत्पादक श्रम अर्थकारी और अनुत्पादक श्रम अनर्थकारी होता है। सन्तानोत्पत्ति हेतु संसर्ग करना अर्थकारी है। केवल भोगेच्छा पूर्ति हेतु पहले सहवास करना, फिर विरक्ति होने पर पुनः भड़काऊ सामग्री की शरण में जाना, पश्चात मानसिक अशांति होने पर ड्रग्स आदि का सेवन और वहाँ से विखंडित व्यक्तित्व की पूर्ति हेतु विकृतियों को अपनाना, कुल मिलाकर […]

Read More

जादू की झप्पी : लाख दुखों की एक दवा है काहे घबराए

उनके पास पैसा, शोहरत, कामयाबी यानी वह सब कुछ था, जो किसी की भी हसरत हो सकती है, फिर चाहे आध्यात्मिक गुरु भय्यू जी महाराज हों या सिलेब्रिटी शेफ एंथनी बॉर्डियन या फिर पुलिस अधिकारी राजेश साहनी। वे जिस मुकाम पर पहुंचे, वहां कम ही लोग पहुंच पाते हैं फिर भी उन्होंने जिंदगी से मुंह […]

Read More

भारतीय भोजन थाली से गायब सेंधा नमक और अजीनोमोटो की सेंध

एक समय था जब भारत की पारंपरिक रसोई में सिल बट्टे पर मसाले पीसते समय खड़ा नमक डाला जाता था. काला नमक और सेंधा नमक तो उपवास में खाया जाने वाला नमक था यानी इतना शुद्ध कि नमक खाने से भी व्रत ना टूटे. फिर अचानक से वैश्वीकरण की चकाचौंध में हमें अपनी ही रसोई […]

Read More

Carolyn Hartz : चार पोतों की 70 साल की इस दादी जैसे आप भी हो सकते हैं युवा

मेरी त्वचा से मेरी उम्र का पता ही नहीं चलता… टिंग टोंग संतूर संतूर…. साठ साल के बूढ़े या साठ साल के जवान…. इस तरह के बहुत से विज्ञापन हम देखते आये हैं, विज्ञापन हमारे लिए हमेशा से कार्यक्रम के बीच में आने वाली बाधा रहे हैं… कभी कोई विज्ञापन पसंद भी आ जाता है […]

Read More

Bipolar Mood Disorder : बहुत ही कन्फ़्यूजिंग बीमारी

हम भारतीय बोलते बहुत हैं इसीलिए बचपन से ही हमें विशेषण सुनने की आदत पड़ जाती है…. अरे यह तो आलसी है, वह तो बहुत गुस्सैल है… फलां तो नवाबजादा है जब देखो तब गाड़ियों, लड़कियों पर पैसे फूंकता रहता है… वह लड़की देखो… अपने आप को मिस इंडिया समझती है… उसका मेकअप कितना लाउड […]

Read More

कायाकल्प संकल्प के जादू से : वज़न कम करने के लिए करें ये आसान उपाय

इस समय यदि सबसे बड़ी कोई समस्या शरीर को लेकर लोगों में है, तो वो है वज़न बढ़ने की समस्या. और बावजूद इसके सबसे बड़ा सपना यदि लोग देख रहे हैं, तो वो है छरहरी काया पाने का सपना. छरहरी काया पाना तो सब चाहते हैं लेकिन बैठे बिठाये. ना उन्हें खाने पीने में परहेज़ […]

Read More
error: Content is protected !!