पाणिनि, संस्कृत भाषा का गौरव और आधुनिक विज्ञान

विश्व के सर्वकालीन महान गणितज्ञों में से एक श्रीनिवास रामानुजन ने अपने छोटे-से जीवन में क़रीब चार हज़ार प्रमेय दिए…

Continue Reading →

स्वामी रामानंद, कबीर और वामपंथी षडयंत्र

हमने जब इतिहास पढ़ना शुरू किया तो भक्ति काल और धार्मिक आंदोलन की भूमिका में यदा-कदा स्वामी रामानंद के बारे…

Continue Reading →

व्यंग्य : विश्व पुस्तक मेले के बहाने

देवांशु तेरे कितने नाम…. मैं लगभग आश्वस्त हो चुका हूं कि लिखने वालों में से अधिकांश बहुत स्वार्थी, बेईमान और…

Continue Reading →

सदमा – 2 : मेरा कोई सपना होता…!

दुखांत प्रेम कहानियों पर बनने वाली फिल्मों में सदमा को मैं श्रेष्ठ मानता हूं। ऐसी फिल्मों में अकसर नायक-नायिका की…

Continue Reading →