Menu

ए माँ तेरी सूरत से अलग भगवान की सूरत क्या होगी

0 Comments


भैया.. मां कैसी दिखती होगी.. क्या तुझे याद है”?
‘भैया.. मां होती तो कितना अच्छा होता ना..
यूं खाना खाने को चाची की तरफ तो ना जाना होता..”
हां ..छोटे..
“भैया.. देखा ना चाची कैसे घूरती मुझे खाते देख के.”
थोड़ा पहले चला जाऊं तो हाथ नचा के बोलती है.. अभी ना बना खाना.. चल भाग यहां से …”
चार लोगो के बराबर अकेला चर जाता है..”

हां… छोटे… पिताजी तो चाची के पास राशन रख के चले जाते हैं…. कईं कईं दिन वापिस भी नहीं आते, करें भी तो क्या….”
चल जैसी भी है… चाची बना के तो देती ही है ना….
और तू अपने छोटे से दिमाग पे ज्यादा बोझ मत डाल…
आज अहोई मां की पूजा है… चाची ने हलवा पूरी बनायी होगी… चल खाना खाने चलते हैं…”।
अरे आज तो बहोत मजा आयेगा.. फिर …चलो भैया..
*******************************************

अरे फिर आ गये तुम दोनों…
जाओ यहां से… तुम्हारा बाप जो आटा दे गया था …वो खत्म हो गया…
पर चाची …खाना…
कोई खाना वाना नहीं है भागो यहां से..
बड़के ने छोटे का हाथ पकड़ा और एक झटके में बाहर निकल आए वहां से…
कुछ देर मन मसोस कर इधर – उधर घूमते रहे दोनों फिर कुम्हारिन अम्मा के चबूतरे पर आ बैठे..।

अम्मा ने बाहर आके देखा तो बोली..
काये रे… इत्ती रात यिहां काहे बैठो… घर जा सोओ..
लेकिन अम्मा… छोटे ने जैसे ही मुंह खोला..
बड़े ने उसका मुंह अपने हाथ से भींच लिया..

अम्मा सब समझ चुकी थी..
बोली… चलो भीतर…
देखो आज अहोई की पूजा थी.. मैंने हलवा पूरी बनाये… जरा चखो तो कैसे बने..

अम्मा परोसती जाती और बीच बीच में उनके सर पर हाथ भी फेरती ….
अरे छुटके तू तो कुछ खा ही नी रहा…
काहे रे अच्छा ना बना …
नहीं अम्मा..बहोत ही अच्छा बना… चल तो ले फिर थोड़ा और…
खाना खाने के बाद..
अच्छा अम्मा …अब हम चलें…कहके दोनो भाई अपने घर चल दिये….
*****************************************

दोनों ही रास्ते में कुछ सोचते जा रहे थे… बड़का सोच रहा था… आज बहुत अच्छी नींद आयेगी ..आज खाने से पेट नहीं …मन भी भरा है।
इतने में छोटा बोला..
भैया….
हां छोटे.. खाना तो जमके खाया ना…
हां भैया… पर वो बात नहीं..
तो फिर…
भैया.. मैं जान गया हूं… मां कैसी दिखती होगी..।
कैसी..छोटे?
भैया… मां कुम्हारिन अम्मा जैसी दिखती होगी जरूर”।

– सोनू लाम्बा

कुम्हारन के हाथ तो सदैव मिट्टी में सने रहते हैं…

Facebook Comments
Tags: , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *