Menu

George Michael : I Knew You Were Waiting

0 Comments


बात 2013 की है, नवंबर के महीने में मैंने जार्ज माइकल को क्रमवार सुनना शुरू किया. जार्ज और अरेथा फ्रेंकलिन का एक डुइट गीत “आई न्यू यू वर वेटिंग फॉर मी” सुना. अच्छा लगा. बाद में भूल गया. एक्सीडेंटली फिर सुनना हुआ.

दीपावली अवकाश पर गृहनगर से लौटा तो ताला-चाबी की समस्या के कारण बाहर फुटपाथ पर तीन घंटे रात में बैठा. इस बीच इस गीत को सुना. फिर तीन घंटों में इसे बार-बार सुना. अगले दिन वर्किंग टाइम में, सफर में, बस में लगातार सुना. उसके बाद दर्जनों बार सुना. खूब अधिक सुना. तब तक सुना जब तक तृप्त न हो गया.

सुनकर, मैंने स्वयं मन ही मन कहा कि यह तो एक महान गीत है. निश्चित ही इसे महान माना जाना चाहिए, लेकिन यह मेरा ही निजी विचार था. इस गीत के प्रति तेज आकर्षण व मोहपाश के कारण स्वत: ही इसका पूरा इतिहास खंगालने बैठा तो विकीपीडिया ने अचंभित कर दिया. ऐसा तथ्य पता चला कि मजा आ गया.

पता चला कि यह गीत गोल्डन इरा यानी पॉप संगीत के स्वर्णयुग का ही है. 1987 का है. मेरा प्राणप्रिय वर्ष, जो केवल और केवल माइकल जैक्सन के “बैड” के कारण ही जाना जाएगा इतिहास में. समय की बहुमूल्य धारा में इस वर्ष को इस गौरवशाली एलबम को जन्माने का विशेषाधिकार प्राप्त है. सबसे अधिक रोचक चीज पता चली कि यह आलरेडी अति प्रशंसित गीत है. हाइली अक्लेंम्ड. इतना ही नहीं, यह तो ग्रैमी अवार्ड विनर है.

ग्रैमी अवार्ड की पश्चिम में वही हैसियत है जो हमारे यहां फिल्म फेयर या पद्म पुरस्कारों की होती है. मुझे यह जानकर बहुत तसल्ली मिली कि मैंने ही नहीं, दुनिया ने इसे महानतम गीत माना है. जार्ज माइकल और अरेथा ने अपनी जर्बदस्त गायकी से इसे जीवंत और सशक्त बनाया है.

हिंदी फिल्म “हम दोनों” का कालजयी गीत ” मैं ज़िंदगी का साथ निभाता चला गया” को इसका भारतीय संस्करण कहा जा सकता है. जयदेव की अमर कृति. रफी साहब ने अपनी बेमिसाल गायकी से इसमें वही दर्शन उभारा है जो पीछे मुड़कर न देखने और आगे बढ़ते रहने की बात करता है.

देवआनंद का भी ताउम्र यही फलसफा रहा. यह उनका आत्मकथात्मक गीत था. जॉर्ज के गीत में भी एक जगह जॉर्ज ऐसा ही कुछ कहते हैं कि – मैं जब पीछे मुड़कर अपनी निराशाओं, हताशाओं को देखता हूं तो बस… हंसता हूं. बुलंद हौसलो की इसी थीम पर 1991 में आए एलबम “डेंजरस” में जैक्सन का महानतम गीत “कीप द फैथ” है.

सेल्फ-एस्टीम और आत्म गौरव की भावना के लिए इससे बड़ा गीत संगीत जगत में मिलना मुश्किल है. इसे संगीत के इतिहास का सर्वाधिक डायनैमिक और साउंड गीत कहा जा सकता है. उच्चकोटि की गायकी और बेजोड़ इंप्रोवाइजेशन से जॉर्ज ने इसे एक अमर रचना बना दिया. इतने सारे हीरे-मोती जवाहरातों से हमें नवाजने वाले इन लोगों का शुक्रिया हम आखिर करें तो कैसे!

– नवोदित सक्तावत

I Knew You Were Waiting (with Aretha Franklin)
——————————————————————————
( Like a warrior that fights
And wins the battle
I know the taste of victory
Though I went through some nights
Consumed by the shadows
I was crippled emotionally
Somehow I made it through the heartache
Yes I did, I escaped
I found my way out of the darkness,
Kept my faith (I know you did)
Kept my faith

When the river was deep I didn’t falter
When the mountain was high I still believed
When the valley was low it didn’t stop me, no no
I knew you were waiting
I knew you were waiting for me (uh huh)

With and endless desire I kept on searching
Sure in time our eyes would meet
Like the bridge is on fire
The hurt is over, one touch and you set me free
No, I don’t regret a single moment
No I don’t looking back
When I think of all those disappointments
I just laugh (I know you do), I just laugh

When the river was deep I didn’t falter
When the mountain was high I still believed
When the valley was low iIt didn’t stop me, no no
I knew you were waiting
I knew you were waiting for me

So we were drawn together through destiny
I know this love we share was meant to be
I knew you were waiting, knew you were waiting
I knew you were waiting, knew you were waiting for me)

 

Facebook Comments
Tags: ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *