Menu

कायाकल्प संकल्प के जादू से : वज़न कम करने के लिए करें ये आसान उपाय

0 Comments


इस समय यदि सबसे बड़ी कोई समस्या शरीर को लेकर लोगों में है, तो वो है वज़न बढ़ने की समस्या. और बावजूद इसके सबसे बड़ा सपना यदि लोग देख रहे हैं, तो वो है छरहरी काया पाने का सपना.

छरहरी काया पाना तो सब चाहते हैं लेकिन बैठे बिठाये. ना उन्हें खाने पीने में परहेज़ करना पड़े, ना कोई शारीरिक व्यायाम. बस चाहते हैं बैठे बैठे जादू हो जाए.

चलिए आपका यह काम भी आसान कर देते हैं, बैठे बैठे ही कायाकल्प हो जाएगा लेकिन उसके लिए आपको ध्यान में बैठना होगा. योग के कुछ आसन करना होंगे.

खाने पीने में बस परहेज़ इस बात का रखना है कि भोजन सात्विक हो, जिसे कम से कम पकाया गया हो, तला भुंजा न हो.

मैंने चार महीने में लगभग दस किलो वज़न कम किया था जिसके बारे में एक लेख में विस्तृत रूप से बताया था जिसे आप इस लिंक पर पढ़ सकते हैं. हालांकि मैंने ध्यान और सूर्य साधना की मदद से कायाकल्प किया है जो पूर्ण समर्पण के बिना मुमकिन नहीं.

यदि आपमें इतना धैर्य और समर्पण नहीं है और व्यायाम के साथ आप खान पान में फेर बदलकर करने को तैयार हैं तो सुश्री वंदना सहाय की सीक्रेट टिप्स आपको बहुत काम आएगी. वंदना ने दो महीने में पूरे आठ किलो वज़न कम किया और न सिर्फ छरहरी काया पाई बल्कि उनकी त्वचा में भी चमक आ गयी.

वंदना सहाय कहती हैं – “मैंने ज़्यादा कुछ नहीं बदला है अपने खाने में, सिर्फ तेल बंद कर दिया है. सुबह ब्रेकफास्ट में पोहा, उबले हुए अंडे, लंच में दाल, सब्ज़ी, रोटी और रात में सलाद. और इस बीच भूख लगती है तो सिर्फ फ्रूट लेती हूँ.”

देखा कितना आसान है ये सब, लेकिन उनका कहना है यह तभी मुमकिन है जब आप साथ में व्यायाम करें. वंदना नियमित रूप से जिम जाती हैं.

खाने में कुछ परहेज़ हम आपको बता दें –

1. भोजन में अंकुरित अनाज, सलाद, दही, छाछ की मात्रा बढ़ा दें.
2. आलू, चावल, बैंगन कम कर दें.
3. हरी सब्ज़ियाँ अधिक खाएं.
4. भोजन के समय के अलावा भूख लगने पर फल और पेय पदार्थ अधिक लें.
5. नाश्ते में दलिया, उपमा, पोहा लें.
6. जिम जाना या अधिक थकाने वाला व्यायाम आपके बस का नहीं तो निराश होने की आवश्यकता नहीं, योग और प्राणायाम भी कर सकते हैं.

सबसे महत्वपूर्ण जो मुझे लगता है वो है आपका संकल्प. आप वाकई अपने शरीर की फिक्र करते हैं तो… मुश्किल नहीं है कुछ भी अगर ठान लीजिये.

– माँ जीवन शैफाली

Facebook Comments
Tags: , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *