मेकिंग इंडिया साप्ताहिकी

जीवन के सप्त रंग, मेकिंग इंडिया के संग

तन नुं बनावे तम्बूर अने मन ना करे मंजीरा, तो तमे मानजो के ए हशे, राधा ने कां मीरा

एक राधा, एक मीरा दोनों ने श्याम को चाहाअन्तर क्या दोनों की चाह में बोलोइक प्रेम दीवानी, इक दरस दीवानी राधा ने मधुबन में ढूँढामीरा ने मन में पायाराधा जिसे

Read More

नायिका -3 : Introducing सूत्रधार

हर फिल्म का एक नायक होता है………….. और होती है एक नायिका……………………. फिल्म चाहे पुरानी हो या नई………. हर फिल्म में एक नायक होता है…………. और होती है एक नायिका……………

Read More

उत्पादक श्रम अर्थकारी और अनुत्पादक श्रम अनर्थकारी

उत्पादक श्रम अर्थकारी और अनुत्पादक श्रम अनर्थकारी होता है। सन्तानोत्पत्ति हेतु संसर्ग करना अर्थकारी है। केवल भोगेच्छा पूर्ति हेतु पहले सहवास करना, फिर विरक्ति होने पर पुनः भड़काऊ सामग्री की

Read More

नव युग चूमे नैन तिहारे, जागो, जागो मोहन प्यारे…

पूर्व में सूर्योदय हो चुका है। बाल अरुण अपनी पूर्ण आभा से प्रकाशित हो अपने प्रखर तेज से दसों दिशाओं को आलोकित करने वाला है। नभ में विहग पंक्ति रक्ताभ्र

Read More

मानो या ना मानो : यात्रा एक तांत्रिक मंदिर की

चौथे दिन मैं भैरव पहाड़ी पर पहुंचा तो कोहरा-सा छाया हुआ था, पर कुछ ही समय बाद कोहरा छंट गया और प्रखर धूप निकल आई. यह मेरे लिए शुभ संकेत

Read More

ब्रह्माण्ड बहुत ही प्यारा दोस्त है मेरा

हस्पताल के गलियारे में बैठी थी। अपनी बारी का इंतज़ार कर रही थी। ब्लड टेस्ट तो हो चुका था पर डॉक्टर अभी किसी और मरीज़ के साथ मशगूल थी। एकाएक

Read More

ना उम्र की सीमा हो, ना जन्मों का हो बंधन

रिश्तों के कोंपल उसी मिट्टी में अंकुरित होते हैं, जहाँ अनुकूल वातावरण मिलता है, फिर चाहे विवाह हो, प्रेम हो या फिर दोस्ती. किसी भी रिश्ते को फलने-फूलने में सबसे

Read More
error: Content is protected !!