Menu

Category: Previous Issues

मन में विश्वास होना आवश्यक है, चाहे ईश्वर के प्रति हो या सांसारिक व्यक्ति के प्रति

मन में विश्वास का होना बहुत आवश्यक होता है. चाहे वह ईश्वर के प्रति हो या किसी सांसारिक व्यक्ति के प्रति. यह एक ऐसा गुण है जिसको अपनाए बिना मनुष्य जीवन चला ही नहीं सकता. सांसारिक लोगों पर विश्वास कभी सुखदायी होता है तो कभी दुखदायी. लोग एक-दूसरे पर अपना स्वार्थ साधने के लिए ही […]

Read More

साफ फ़र्क है आह से उपजे गान और बाज़ार की कला में : प्रसून जोशी

हमारा अतीत इस बात का गवाह है कि चाहे वह कल्पना की ऊंची उड़ान हो या नए-नए विचारों की गहरी पैठ, हमने नए विचारों का सदा ही स्वागत किया है. हमारे पास अनेक उदाहरण हैं निर्बाध चिंतन के. फिर भी आज कुछ लोगों में एक असंतोष क्यों दिखाई देता है? क्यों कला का समाज और […]

Read More

यत् पिण्डे तत् ब्रह्माण्डे

आधुनिक विज्ञान की बिग बैंग थ्योरी बताती है कि ब्रह्मांड (सृष्टि) की उत्पत्ति महाविस्फोट से हुई. विस्फोट से असंख्य ग्रह, नक्षत्र, तारे बने. जिससे ब्रह्माण्ड का विस्तार हुआ. और अभी विस्तार की प्रक्रिया जारी है. भारतीय अध्यात्म दर्शन में भी कहा गया कि एक ने अनेक होने की कामना की, और वह अनेक रूपों में […]

Read More

मासिक धर्म, माहवारी या ‘कपड़े से’ होना

आज से 54-55 साल पहले, 1963 के जून माह में, जब मेरी गर्मी की छुटियाँ थीं, मैं पूरे दस दिन के लिए अपनी बुआ फूफा के पास लखनऊ आ गया था. खूब मस्ती के दिन थे वे. पर क्या मस्ती की थी तब, ये ठीक से याद नहीं, बस चिड़ियाघर, अमीनाबाद और हजरतगंज जैसी जगहें […]

Read More

प्राथमिकता खुद तय करें : संस्कारी बच्चा या स्मार्टफोन वाला स्मार्ट बच्चा

आजकल अभिभावकों को अक्सर ये शिकायत करते हुए देखती हूँ कि उनका बच्चा स्मार्ट फ़ोन बहुत इस्तेमाल करता है और लगातार लतखोरी की तरफ बढ़ रहा है. तो आइये, जानते हैं बच्चों में स्मार्टफोन की इस लतखोरी के कारण और फिर उसका निवारण….. 1. आजकल मैंने अक्सर देखा है कि माँ बाप एक छोटे से […]

Read More

सभ्यता, संस्कार, स्वतंत्रता और स्त्री सशक्तिकरण

बीती रात भांजी को रिसीव करने रेलवे स्टेशन पर था. बिटिया कलाकार है, फाइन आर्ट्स की छात्रा, ceramic sculpture बनाती है, भोपाल का भारत भवन उसका दूसरा घर जैसा बन गया है. रात साढ़े दस बजे मदन महल स्टेशन पहुँचने वाली शताब्दी एक्सप्रेस से लौट रही थी, अपने भारी भरकम प्रोजेक्ट वर्क के साथ. घर […]

Read More
Making India

लेखन का वरदान पाने के लिए आप उसे भोगने के लिए अभिशप्त हैं

पता नहीं आजकल के गीतकार फ़िल्मी गाने कैसे लिखते हैं… एक काल्पनिक सीन पर लिखना मेरे लिए सबसे मुश्किल काम है. मुझे कभी कोई तस्वीर देकर उस पर लिखने के लिए कहता है, कभी कोई कहानी की मांग करता है, या फिर किसी विषय पर लेख लिखने की मजबूरी आ जाती है तो मेरा दिमाग़ […]

Read More

Thyroid : शरीर से पहले मन और चेतना से निकालिए बीमारी का हव्वा

बात 2015 की है जब भावनात्मक उतार-चढ़ाव का ऐसा दौर गुज़रा था कि डॉक्टर के पास जाने की नौबत आ गयी थी. चिड़चिड़ापन, खुद से ही नहीं, पूरी दुनिया से नाराज़गी और सबकुछ होते हुए भी खुदकुशी का ख़याल. लगता था जब मुझे सबकुछ भोगते हुए भी दिख रहा है जो मैं कर रही हूँ, […]

Read More

मात्र उपवास रखने भर से नियंत्रित हो जाएगी ब्लड शुगर : वैज्ञानिकों का दावा

अभी हाल में ही अमेरिका के वैज्ञानिकों नें मान लिया कि मधुमेह नामक बीमारी को ठीक किया जा सकता है. और वह भी मात्र उपवास और प्राकृतिक भोजन के उपयोग से. अब शायद भारत का मीडिया कुछ दिनों या महीनों के बाद इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे और लोग इसे समझें. भारत में अनुमानत: 7 […]

Read More
error: Content is protected !!