Menu

Category: March (Third) 2019

मुझे बरबाद करने की फ़िराक में ये आदमी

ज़िंदगी में पहली बार काम-धाम के बारे में तब सोचा, जब बड़े राजकुमार चिरंजीव ज्योतिर्मय जी के हमारे घर आने के संकेत मिले…. सोचा और सफलतापूर्वक शुरू हो गया… पर अब एक आदमी मुझे बरबाद करने की फ़िराक में है…. फिर छोटे राजकुमार चिरंजीव गीत के आने से पहले, परिवार बढ़ने की आहट पा, ज़िंदगी […]

Read More

अर्जुन – 2 : गुनाहों का देवता है हर पात्र

यार एक बात बताओ तुम मुझे परफेक्ट बनाना चाहते हो या कम्पलीट? अर्जुन भौचक्का-सा उसकी तरफ देखता रह गया. उसने कभी उससे इस तरह से बात नहीं की थी. अर्जुन ने एक पल को खुद को संभालते हुए सोचा जब पात्र बड़ा होने लगे तो उससे दोस्ती कर लेना ही उचित है. उसने ज्ञानी मुद्रा […]

Read More
error: Content is protected !!