Menu

Category: March (Fourth) 2019

अपने जीवन का तो एक ही फंडा है जानम, हंसिबा खेलिबा धरिबा ध्यानं

जब संयम साधो तो साधते चले जाओ जब संसार साधो साधते चले जाओ यह मत देखो क्या साधा जा रहा है, देखो यह कि क्या तुम्हें साधना आ रहा है… कहते हैं न एक साधे सब सधे… इसलिए आप जब संन्यास को साध लेते हैं तो आपकी सारी बातें एक साथ सधती चली जाती है. […]

Read More
error: Content is protected !!