रियाज़ की रिकॉर्डिंग्स नहीं होती

सालों पहले की बात है. उस ज़माने में दिनकर जोशी, विट्ठल पंड्या, सारंग बारोट, रजनीकुमार पंड्या से ले कर हरकिशन…

Continue Reading →

फेसबुक अड्डा : ‘आभा-सी’ दुनिया में मेरा पता

फेसबुक के राजमार्ग से एक छोटी सी पगडंडी मेरे घर की तरफ मुड़ती है, थोड़ी सी पथरीली है. जूते पहनकर…

Continue Reading →

वज़न नियंत्रण : आवश्यकता से अधिक खाते समय, इसके उलट विचार क्यों नहीं आते!

ऐसे एकदम से खाना पीना नहीं छोड़ देना चाहिए, कमज़ोरी आ जाती है.. कैल्शियम की कमी हो जाएगी… अरे हिमोग्लोबिन…

Continue Reading →

कागज़ी दस्तावेज : पिया की प्रतीक्षा में घूंघट ओढ़े बैठी रोज़ एक नई दुल्हन हूँ मैं

हर वर्ष जनवरी की पहली तारीख को बच्चों के दादाजी मुझे उपहार स्वरूप नई डायरी देते हैं. कम्प्यूटर की इस…

Continue Reading →

भारतीय भोजन थाली से गायब सेंधा नमक और अजीनोमोटो की सेंध

एक समय था जब भारत की पारंपरिक रसोई में सिल बट्टे पर मसाले पीसते समय खड़ा नमक डाला जाता था.…

Continue Reading →