व्यवस्थित अव्यवस्था आवश्यक है जीवन के लिए…

भावनात्मक अधोगमन के साथ ऊर्जा के उर्ध्वगमन के व्युत्क्रमानुपाती नियम के साथ समानानुपाती रूप से आगे बढ़ते रहिये। प्रेम और…

Continue Reading →

दुबई का ‘ग्लोबल विलेज’ : दुनिया का सबसे बड़ा और अनूठा सांस्कृतिक केंद्र

जब भी मैं दुबई आता तो यहाँ के विश्वविख्यात ‘ग्लोबल विलेज’ यानी ‘विश्व ग्राम’ को देखना किसी कारण से संभव…

Continue Reading →

जब सब सोते हैं, तब योगी जागे हुए रहते हैं

योग में तीन अवस्थाओं का वर्णन है. जागृत, स्वप्न, सुषुप्ति. मनोवैज्ञानिक कहते हैं कि मन के तीन भाग हैं. चेतन,…

Continue Reading →

Life Love Liberation : ध्यान ही जीवन, जीवन ही प्रेम, प्रेम ही परमात्मा

मैं अपनी बात शुरू करूं इसके पहले जानिये बब्बा क्या कह रहे हैं, कोई आध्यात्मिक गुरु, कोई ज्ञानी बात कहता…

Continue Reading →

सामाजिक से प्राकृतिक होने की प्रक्रिया का नाम है अध्यात्म

आध्यात्मिक लोग भी दो तरह के होते हैं. एक जो आधुनिक से ग्रामीण हो जाते हैं, मेरे जैसे आदिम, ठेठ……

Continue Reading →

कुम्हारन के हाथ तो सदैव मिट्टी में सने रहते हैं…

कुम्हारन के हाथ तो सदैव मिट्टी में सने रहते हैं… मिट्टी जो उसकी माँ भी है और सखी भी… गुरु…

Continue Reading →

मानो या न मानो : मिट्ठी के जन्म और गुड़वाले बाबा की सच्ची कहानी

माई, ओ माई !! गुड़ रोटी मिलेगी खाने को? आगे जा बाबा… आज कुछ नहीं है देने को. मैं बहुत…

Continue Reading →