परी : वास्तविक घटना पर आधारित एक काल्पनिक कहानी

(1) कुछ रिश्ते खून के होते हैं, कुछ रिश्ते समाज में रहते हुए संबोधन के होते हैं और कुछ रिश्ते…

Continue Reading →

यात्रा : पाटलिग्राम, पाटलिपुत्र, पुष्पपुर, कुसुमपुर, अज़ीमाबाद से पटना तक की कहानी

आप सबने जूही की फिल्म हम है राही प्यार के फिल्म का यह गाना तो सुना ही होगा… बंबई से…

Continue Reading →

जीवन है मेरा चुनाव, आपका चुनाव चिह्न क्या है?

कभी कभी उन सारे क्रिया कलापों से छुट्टी लेकर देखिये जिनमें लगातार आपकी उपस्थिति दर्ज होती है. जैसे मैं कभी…

Continue Reading →

शरीर साधन है : पुरुष, जिस पुर में परमात्मा बसा है

शरीर को दोष देने वाला बिलकुल निर्बुद्धि है. उपनिषद की इस धारणा को समझकर, आप इस सूत्र में प्रवेश करें.…

Continue Reading →