मेकिंग इंडिया साप्ताहिकी

जीवन के सप्त रंग, मेकिंग इंडिया के संग

सामाजिक से प्राकृतिक होने की प्रक्रिया का नाम है अध्यात्म

आध्यात्मिक लोग भी दो तरह के होते हैं. एक जो आधुनिक से ग्रामीण हो जाते हैं, मेरे जैसे आदिम, ठेठ… सदैव के अज्ञानी जिन्हें वास्तव में कुछ नहीं आता लेकिन

Read More

जीवन, अध्यात्म का प्रकट रूप और अध्यात्म, जीवन का अप्रकट विस्तार

ये जादू मेरे साथ अक्सर घटित होता है, किसी तस्वीर पर एकदम से दिल आ जाता है तो लगता है इस पर कुछ लिख डालूँ, या काश कोई इस पर

Read More

अध्यात्म के रंगमंच पर जीवन का किरदार…

मुझसे किसी को किसी बात पर ईर्ष्या नहीं हो सकती, लेकिन बिस्तर पर करवट बदलते रहने वालों को मेरी इस आदत पर अवश्य ईर्ष्या हो सकती है कि ध्यान बाबा

Read More

अर्जुन – 3 : ख्यालों के पुलाव नहीं होते पात्र

और ये हर बार तुम अज्ञेय सी क्लिष्ट भाषा में बात क्यों करने लगते हो. क्यों उपन्यास की गुणवत्ता में भाषा का कोई सहयोग नहीं होता? तुम्हारा मतलब है प्रेमचंद

Read More

अपने जीवन का तो एक ही फंडा है जानम, हंसिबा खेलिबा धरिबा ध्यानं

जब संयम साधो तो साधते चले जाओ जब संसार साधो साधते चले जाओ यह मत देखो क्या साधा जा रहा है, देखो यह कि क्या तुम्हें साधना आ रहा है…

Read More

अर्जुन – 2 : गुनाहों का देवता है हर पात्र

यार एक बात बताओ तुम मुझे परफेक्ट बनाना चाहते हो या कम्पलीट? अर्जुन भौचक्का-सा उसकी तरफ देखता रह गया. उसने कभी उससे इस तरह से बात नहीं की थी. अर्जुन

Read More

बब्बा, मैं जीवन सिखाती हूँ

बात दो तीन दिन पहले की है, जब मेकिंग इंडिया की पिछले वर्ष की यादें अपनी फेसबुक वाल पर शेयर करने के लिए जैसे ही वेबसाइट पर 14 तारीख पर

Read More

VIDEO : मुझको भी तो लिफ्ट करा दे

आपने अदनान सामी का अमिताभ बच्चन पर फिल्माया यह गाना ज़रूर सुना होगा… ऐसो वैसो को दिया है, कैसो कैसो को दिया है… मुझको भी तो लिफ्ट करा दे… मैं

Read More

Multitasking : कहीं की ईंट, कहीं का रोड़ा, भानुमती ने कुनबा जोड़ा

लोग मुझसे अक्सर पूछते हैं आप घर परिवार और मेकिंग इंडिया के साथ सोशल मीडिया भी… एक साथ सबकुछ कैसे संभाल लेती हैं. आपकी मल्टीटास्किंग गज़ब की है. कई करीबी

Read More

SPINAL CORD : स्वस्थ शरीर का केंद्र जिसे भुलाकर हमने बीमारियों को दिया न्योता

पिछले दिनों सद्गुरु का एक बहुत ही दिलचस्प वीडियो देखा. सबसे बड़ी बात जिसने मुझे अचंभित किया वह यह कि शुद्ध शरीर तल की बात करने वाले चिकित्सकों के बीच

Read More
error: Content is protected !!