Menu

Month: August 2018

सुरबहार : ओ सजना, बरखा बहार आई

ओ सजना, बरखा बहार आई, यह गीत साधना की सादगी के दिनों का सौंदर्य गीत है, एक नाज़ुक सी लड़की बारिश की रिमझिम में पिया मिलन की आस में गीत गूंथ रही है… यह उस समय का गीत है जब उसे अपने चौड़े माथे की सुंदरता किसी पैमाने पर कम न लगती थी, और साधना […]

Read More

पैसा, प्रेम, परमात्मा : प्रचलित, प्रचलन, प्रचोदयात

जैसा कि मेरे साथ हमेशा होता है मेरा रचनात्मक संसार मेरे साथ कोई न कोई खेल खेल रहा होता है, अधिकतर अर्ध चैतन्य अवस्था में कोई शब्द मुझे पकड़ा दिया जाता है और कहा जाता है बुनो इसके आसपास ताना बाना। अरे भाई यहाँ कोई शब्दों और ज्ञान का खज़ाना थोड़ी ना बंट रहा है […]

Read More

ओ मारिया : Paulo Coelho की पुस्तक Eleven Minutes की नायिका

अगर मुझे आज की ज़िंदगी के बारे में किसी को बताना पड़े, तो मैं इस तरह बता सकती हूँ, जिससे समझ में यह आए कि मैं एक साहसी, प्रसन्न और स्वतन्त्र महिला हूँ… बकवास : मुझे तो उस शब्द को कहने के भी इजाज़त नहीं है जो ग्यारह मिनटों से ज़्यादा महत्वपूर्ण है- प्यार!!! अपने […]

Read More

#AskAmma : इतने भयंकर Viral Infection में भी Antibiotic नहीं ली, क्यों?

ले लो मेरी अम्मा कम से कम बुखार की दवाई ले लो, तप रही हो एकदम… ध्यान बाबा, शरीर पर विषाणुओं ने हमला किया है तो Antibodies सक्रीय हुई हैं, ऐसे में बुखार चढ़ता ही है, शरीर को कम से कम बीमारी से लड़ने तो दीजिये, जब लगे कि अब ये नहीं बचने वाली तो […]

Read More

मानो या ना मानो : वामांगी-उत्सव पुनर्जन्म एक प्रेमकथा

वामांगी, जिसका ज़िक्र पहले आता है उसके बाद आती है वह.. पैरों की ऊंगलियों के नाखून बढ़ाकर रखती है, लेकिन उस पर महावर नहीं होता, बाकी उसके महावर से रंगे पाँव जहाँ जहाँ पड़ते हैं रास्ता गुलाबी हो जाता है। पैरों में पायल नहीं बस काला धागा डाले रहती है, जैसे नदी के दुधिया पानी […]

Read More

गाइड : एक आभा-सी संवाद

आपके चश्मे का नम्बर क्या है? क्यों? मेरी आँखों से तो मुझे ही देखना है नंबर जानकर क्या करेंगी… नहीं, देखना है, किस नंबर पर पहुँचने के बाद मुझे पहचान सके… सातवें जन्म के बाद.. ओह! नम्बर बहुत अधिक है, गाजर खाया कीजिये.. मेरे पास किटी नहीं है जो गाजर खिलाए… वैसे जासूस भी आप […]

Read More

सूरज का प्रेम

प्रेम पर न जाने कितनी ही फ़िल्में बनी हैं लेकिन सूरज ने प्रेम को एक स्थायी चरित्र बना दिया, वो हर फिल्म में प्रेम ही रहा और उसने अपने इस चरित्र को बखूबी निभाया भी। जी हाँ हम बात कर रहे हैं सलमान की, जिनका ज़िक्र बाद में आता है उसके पहले उनकी असफल प्रेम […]

Read More

Fritjof Capra, The TAO of PHYSICS के बहाने : तेरा तुझको अर्पण क्या लागे मेरा

सुबह जागी तो दो शब्द मुंह पर थे तन्मय और तल्लीन, और लगा कोई रचना इन दो शब्दों के आसपास बुनकर जागी हूँ। एमी माँ (अमृता प्रीतम) के अनुसार इसे ‘सांध्य भाषा’ कहते हैं जब आप अर्धचेतनावस्था में कुछ रच रहे होते हैं और जागने पर भी पूरी तरह से या झलक भर याद रह […]

Read More

‘Zombie Boy’ Rick Genest की आत्महत्या : बालकनी से नहीं, जीवन से कूद गया है युवा वर्ग

बीती 1 अगस्त को खबर पढ़ी कि Rick Genest जो Zombie Boy के नाम से प्रसिद्ध था, ने सिर्फ़ 32 वर्ष की उम्र में बालकनी से कूदकर आत्महत्या कर ली। Zombie Boy के बारे में बहुत अधिक नहीं जानती, बस इतना कि Lady Gaga के किसी म्यूज़िक एल्बम में काम किया था, एक मॉडल, संगीतकार […]

Read More

The Quantum Doctors : बीमारी को ऐसे दुत्कारें ‘चल हट भाग यहां से’

यदि आप Autoimmune disease का अर्थ देखेंगे तो होता है – An autoimmune disease is a condition in which your immune system mistakenly attacks your body. अब यदि ऐसे में आप अपने इम्यून सिस्टम को समझाएं कि जिस पर तुम आक्रमण कर रहे हो वो तुम्हारा ही भाई बंधु है तो क्यों नहीं सुनेगा? जो […]

Read More
error: Content is protected !!